Saturday, January 6, 2018

प्यार के नगमे

हाथ थाम के तुम जो चले साथ में
लगे सारी दुनिया है मेरे क़दमों में
गर तुम कभी साथ न होते मेरे
फिर यह दुनिया किस काम के||

चलना हैं कदम से कदम मिलाके
दुनिया से हर हसीन पल चुराके
यह सफर सुहानी खतम न होते
तुम्हारे बिना जीवन प्यारा न होते||

जी चाहूँ खो जाऊँ तेरी आँखों से
झलकती हुई प्यार के सागर में
पनाह लू तेरे पलकों के आँचल में
बसने दे मुझे वहाँ जीवन भर केलिए ||

कोमल कली सा ये तेरा चेहरा
मेरे दिल को है ख़ुशी से भरा
तेरी आखों में मैंरे दुनिया बसी
तेरे आँचल में मेरी खुशियाँ हसी||

तेरे आँसू मेरे आंखों से बहने लगी
मेरी हसी तेरे होटों पे खिलने लगी
तन्हाई में याद सिर्फ तुम आयी
मेरे दिल को छूकर गुज़र गयी ||



No comments:

Post a Comment